Rabindranath Tagore Biography | रवींद्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय

Rabindranath Tagore Biography – रवींद्रनाथ टैगोर (1861-1941) एक बंगाली कवि, दार्शनिक, संगीतकार और लेखक थे, जो 1913 में साहित्य में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले एशियाई बने। उनका जन्म कलकत्ता, भारत में बुद्धिजीवियों और कलाकारों के परिवार में हुआ था, और चौदह बच्चों में सबसे छोटा था।

टैगोर ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने पिता देबेंद्रनाथ टैगोर के मार्गदर्शन में घर पर प्राप्त की, जो एक धार्मिक सुधारक और दार्शनिक थे। उन्हें यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन सहित विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में भी शिक्षित किया गया था, लेकिन कभी औपचारिक डिग्री पूरी नहीं की। और देखे की दुनिया का सबसे अमीर आदमी कौन है

9k=
Rabindranath Tagore | रवींद्रनाथ टैगोर
NameRabindranath Tagore (रवींद्रनाथ टैगोर)
BirthdateMay 7, 1861
BirthplaceCalcutta, British India (now Kolkata, India)
ParentsDebendranath Tagore (father), Sarada Devi (mother)
SpouseMrinalini Devi (married in 1883)
ChildrenFive children, including Rathindranath Tagore and Shamindranath Tagore
EducationEducated at Oriental Seminary and University College London
Notable works“Gitanjali,” “The Home and the World,” “Gora,” and “The Post Office”
AwardsNobel Prize in Literature (1913)
FounderVisva-Bharati University
PhilosophyEmphasized holistic education, creativity, and community
Political viewsCritic of British colonialism, supporter of Indian independence
DeathAugust 7, 1941
LegacyOne of India’s greatest literary figures, cultural icon, and visionary thinker

History of Rabindranath Tagore : रवींद्रनाथ टैगोर का संपूर्ण जीवन इतिहास

Rabindranath Tagore bare mein – यहाँ रवींद्रनाथ टैगोर के जीवन का एक संक्षिप्त समय सारिणी के रूप में दिया गया है:

वर्षजीवन घटना
1861रवींद्रनाथ टैगोर का जन्म कलकत्ता, भारत में हुआ था
1878टैगोर ने कविता लिखना शुरू किया और अपना पहला कविता संग्रह प्रकाशित किया
1883टैगोर ने मृणालिनी देवी से विवाह किया
1890टैगोर के पिता देवेंद्रनाथ टैगोर का निधन हो गया
1901टैगोर ने शांतिनिकेतन में विश्वभारती विश्वविद्यालय की स्थापना की
1913टैगोर साहित्य में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले एशियाई बने
1915टैगोर को ब्रिटिश सरकार ने नाइट की उपाधि दी थी
1919जलियांवाला बाग हत्याकांड के विरोध में टैगोर ने नाइटहुड की पदवी त्याग दी थी
1921टैगोर ने यूरोप का दौरा किया और प्रसिद्ध लेखकों और विचारकों से मुलाकात की
1930टैगोर को कैंसर हो गया था
1941टैगोर का 80 वर्ष की आयु में निधन हो गया
Rabindranath Tagore Biography | रवींद्रनाथ टैगोर की जीवनी

यह टैगोर के जीवन की कुछ प्रमुख घटनाओं का संक्षिप्त सार है। लेखक, कवि, दार्शनिक और सांस्कृतिक आइकन के रूप में उनकी विरासत में योगदान देने वाली कई अन्य उपलब्धियां, कार्य और व्यक्तिगत अनुभव थे।

Poem of Rabindranath Tagore : रवींद्रनाथ टैगोर की एक कविता

ये रही रवींद्रनाथ टैगोर की मशहूर कविताओं में से एक, “व्हेयर द माइंड इज़ विदाउट फियर”:

  • जहां मन भयमुक्त हो और मस्तक ऊंचा हो
  • जहां मुक्त ज्ञान हो
  • जहां टुकड़े-टुकड़े न हुई हो दुनिया
  • संकरी घरेलू दीवारों से
  • जहां सत्य की गहराई से निकलते हैं शब्द
  • जहां पूर्णता की ओर अथक प्रयास फैलाता है
  • जहां स्पष्ट कारण की धारा
  • मृत आदत के सुनसान रेगिस्तान की रेत में अपना रास्ता नहीं खोती है,
  • जहां आपके द्वारा मन को आगे बढ़ने
  • वाले विचार और कार्रवाई में
  • स्वतंत्रता के उस स्वर्ग में ले जाया जाता है, मेरे पिता, मेरे देश को जगाने दो।

यह कविता भय या बाधाओं से मुक्त दुनिया के टैगोर के दृष्टिकोण को दर्शाती है, जहां ज्ञान स्वतंत्र रूप से सुलभ है और सत्य को महत्व दिया जाता है। वह व्यक्तिगत विकास और पूर्णता की खोज के महत्व में विश्वास करते थे, और लोगों को परंपरा और आदत की बाधाओं से मुक्त होने के लिए प्रोत्साहित करते थे। कविता कार्रवाई के आह्वान के साथ समाप्त होती है, अपने देश के लिए स्वतंत्रता और प्रगति की संभावनाओं को जगाने की एक दलील।

Rabindranath Tagore’s Education : रवींद्रनाथ टैगोर की शिक्षा

यहाँ रवींद्रनाथ टैगोर की शिक्षा का संक्षिप्त सार तालिका के रूप में दिया गया है:

वर्षशिक्षा
1873ओरिएंटल सेमिनरी में भाग लेने लगे
1878यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में पढ़ना शुरू किया
1880भारत लौट आए और कानून की पढ़ाई करने लगे
1882पारिवारिक सम्पदा का प्रबंधन करना शुरू किया
1890शिक्षा के वैकल्पिक रूपों के साथ प्रयोग करना शुरू किया
1901शांतिनिकेतन में विश्वभारती विश्वविद्यालय की स्थापना की
1921यूरोप का दौरा किया और प्रसिद्ध विद्वानों और शिक्षकों से मुलाकात की
1934ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्राप्त की
Rabindranath Tagore Biography | रवींद्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय

यह एक शिक्षक के रूप में टैगोर की शिक्षा और करियर के कुछ प्रमुख मील के पत्थर का एक संक्षिप्त सारांश है। वह एक आजीवन शिक्षार्थी और शिक्षा के हिमायती थे, और उनके अनुभवों ने शिक्षा के उनके दर्शन को एक मुक्तिदायी शक्ति के रूप में आकार दिया जो रचनात्मकता, महत्वपूर्ण सोच और समुदाय की भावना को बढ़ावा देता है। विश्वभारती विश्वविद्यालय में, उन्होंने शिक्षा के लिए एक अनूठा दृष्टिकोण विकसित किया जिसने पारंपरिक भारतीय ज्ञान को आधुनिक पश्चिमी ज्ञान के साथ जोड़ा, और सीखने में कला, संगीत और प्रकृति के महत्व पर जोर दिया।

FAQ – Rabindranath Tagore Biography | रवींद्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय

रवींद्रनाथ टैगोर कौन थे?

रवींद्रनाथ टैगोर एक बंगाली कवि, लेखक, दार्शनिक और शिक्षक थे।
वह 1913 में साहित्य में नोबेल पुरस्कार जीतने वाले पहले गैर-यूरोपीय थे और उन्हें आधुनिक भारत के महानतम साहित्यकारों में से एक माना जाता है।

रवींद्रनाथ टैगोर की कुछ प्रसिद्ध रचनाएँ क्या हैं?

टैगोर के कुछ प्रसिद्ध कार्यों में कविता संग्रह “गीतांजलि,” उपन्यास “द होम एंड द वर्ल्ड” और “गोरा” और नाटक “द पोस्ट ऑफिस” शामिल हैं।
उन्होंने कई गीत, निबंध और लघु कथाएँ भी लिखीं।

टैगोर का शिक्षा दर्शन क्या था?

टैगोर शिक्षा के लिए एक समग्र दृष्टिकोण में विश्वास करते थे जो रचनात्मकता, महत्वपूर्ण सोच और समुदाय की भावना पर जोर देता था।
उन्होंने विश्वभारती विश्वविद्यालय में शिक्षा के लिए एक अनूठा दृष्टिकोण विकसित किया जिसने पारंपरिक भारतीय ज्ञान को आधुनिक पश्चिमी ज्ञान के साथ जोड़ा, और सीखने में कला, संगीत और प्रकृति के महत्व पर जोर दिया।

टैगोर की कविता का क्या महत्व है?

टैगोर की कविता अपनी गीतात्मक गुणवत्ता, आध्यात्मिक गहराई और सार्वभौमिक विषयों के लिए जानी जाती है।
उनकी कविताएँ अक्सर मानवीय रिश्तों की जटिलताओं, प्रकृति की सुंदरता और आंतरिक शांति और सद्भाव की खोज का पता लगाती हैं।

टैगोर ने भारतीय संस्कृति में कैसे योगदान दिया?

बंगाल पुनर्जागरण में टैगोर एक प्रमुख व्यक्ति थे, एक सांस्कृतिक आंदोलन जिसने बंगाली साहित्य, कला और संगीत को पुनर्जीवित और पुनर्परिभाषित किया।
उन्होंने स्वतंत्रता के लिए भारत के संघर्ष में भी भूमिका निभाई और ब्रिटिश उपनिवेशवाद के मुखर आलोचक थे।


  • Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography |अशोक चव्हाण का जीवन परिचय
    Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography – भारतीय राजनीति की भूलभुलैया भरी दुनिया में, कुछ नाम अशोकराव शंकरराव चव्हाण के समान प्रशंसा और विवाद के मिश्रण से गूंजते हैं। राजनीतिक विरासत से समृद्ध परिवार में जन्मे चव्हाण की सत्ता के गलियारों से लेकर महाराष्ट्र के राजनीतिक परिदृश्य के केंद्र तक की यात्रा विजय, चुनौतियों और
  • Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi | प्रेमानंद जी महाराज का जीवन परिचय
    Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi – वृन्दावन के हलचल भरे शहर में, भक्ति और आध्यात्मिकता की शांत आभा के बीच, एक प्रतिष्ठित व्यक्ति रहते हैं जिनका जीवन विश्वास और आंतरिक शांति की शक्ति का एक प्रमाण है। वृन्दावन में एक प्रतिष्ठित आध्यात्मिक संगठन के संस्थापक प्रेमानंद जी महाराज ने अपना जीवन प्रेम, सद्भाव और
  • Budget 2024 Schemes In Hindi | बजट 2024 योजनाए हिंदी में
    Budget 2024 Schemes In Hindi – बजट 2024: वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी 2024 को अंतरिम केंद्रीय बजट 2024-25 पेश किया। उन्होंने इस बजट में कई नई सरकारी योजनाओं की घोषणा की और मौजूदा सरकारी योजनाओं में भी कुछ संशोधन का प्रस्ताव रखा। यहां, हमने बजट में घोषित सरकारी योजनाओं की सूची
  • Harda Factory Blast (MP) | हरदा फैक्ट्री ब्लास्ट
    Harda Factory Blast – एक विनाशकारी घटना में, जिसने पूरे समुदाय को झकझोर कर रख दिया है, मध्य प्रदेश के हरदा में एक पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के कारण कम से कम 11 लोगों की जान चली गई और 174 अन्य घायल हो गए। यह दुखद घटना मंगलवार, 6 फरवरी को सामने आई, जो अपने
  • PM Modi aim to Arrest Arvind Kejriwal | पीएम मोदी का लक्ष्य अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करना
    PM Modi aim to Arrest Arvind Kejriwal – घटनाओं के एक नाटकीय मोड़ में, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शहर की उत्पाद शुल्क नीति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग की चल रही जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी तब हुई जब केजरीवाल ने ईडी के समन