Smriti Mandhana Biography | स्मृति मंधाना का जीवन परिचय

Smriti Mandhana Biography – भारत में क्रिकेट सिर्फ एक खेल से कहीं अधिक है; यह एक जुनून है, जीवन जीने का एक तरीका है और देश की संस्कृति का अभिन्न अंग है। पिछले कुछ वर्षों में, देश ने कई क्रिकेट दिग्गजों को जन्म दिया है जिन्होंने खेल पर अमिट छाप छोड़ी है। इस शानदार सूची में, एक नाम सबसे ऊपर है – स्मृति मंधाना, एक गतिशील और स्टाइलिश बाएं हाथ की बल्लेबाज, जिन्होंने न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में क्रिकेट प्रेमियों के दिलों पर कब्जा कर लिया है। यह भी देखे – Sai Pallavi Ke Bare Mein | साई पल्लवी का जीवन परिचय

Smriti Mandhana Biography
Smriti Mandhana Biography
पूरा नामस्मृति श्रीनिवास मंधाना
जन्म की तारीख18 जुलाई 1996
जन्म स्थानमुंबई, भारत
ऊंचाईलगभग 5 फीट 4 इंच (163 सेमी)
परिवारमाता-पिता: स्मिता और श्रीनिवास मंधाना
भाई: श्रवण मंधाना
क्रिकेट भूमिकाबाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज
घरेलू टीममहाराष्ट्र क्रिकेट टीम
अंतर्राष्ट्रीय टीमभारतीय महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम
घरेलू पदार्पणअक्टूबर 2016 (महाराष्ट्र अंडर-19)
इंटरनेशनल डेब्यूअगस्त 2014 (इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट)
करियर के मुख्य अंश– अक्टूबर 2013 में एक दिवसीय खेल में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला।
– 2018 में ICC महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर और ICC महिला वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर।
कप्तानी– भारतीय महिला T20I टीम की कप्तान।
टी20 लीग– डब्ल्यूबीबीएल, किआ सुपर लीग और द हंड्रेड में खेला गया।
पुरस्कार और सम्मान– राचेल हेहो-फ्लिंट पुरस्कार विजेता।
– विश्व स्तर पर शीर्ष महिला क्रिकेटरों में से एक के रूप में पहचानी जाती है।
सामाजिक मीडिया– ट्विटर: @mandhana_smriti
– इंस्टाग्राम: @smriti_mandhana
– फेसबुक: स्मृति मंधाना
व्यक्तिगत जीवन– मजबूत पारिवारिक समर्थन वाले क्रिकेट-प्रेमी परिवार से आते हैं।
– शिक्षा और अन्य गतिविधियों के साथ क्रिकेट प्रतिबद्धताओं को संतुलित करता है।
प्रभाव– भारत और दुनिया भर में महत्वाकांक्षी महिला क्रिकेटरों के लिए एक आदर्श।
– अपनी स्टाइलिश बाएं हाथ की बल्लेबाजी और लगातार अच्छे प्रदर्शन के लिए जानी जाती हैं।
स्मृति मंधाना

Smriti Mandhana Biography | स्मृति मंधाना के बारे में

18 जुलाई 1996 को मुंबई में जन्मी स्मृति मंधाना एक मारवाड़ी परिवार से हैं और उन्हें खेल से गहरा प्यार है। क्रिकेट से उनका परिचय दो साल की उम्र में हुआ जब उनका परिवार महाराष्ट्र में माधवनगर, सांगली चला गया। उनके पिता, श्रीनिवास मंधाना और भाई, श्रवण मंधाना ने जिला स्तर पर क्रिकेट खेला, जिसने स्मृति की क्रिकेट यात्रा के लिए आधार तैयार किया।

महज नौ साल की उम्र में स्मृति को प्राकृतिक प्रतिभा और सफल होने की तीव्र इच्छा का प्रदर्शन करते हुए महाराष्ट्र की अंडर-15 टीम के लिए चुना गया था। ग्यारह साल की उम्र तक, उन्होंने पहले ही महाराष्ट्र अंडर-19 टीम में अपनी जगह बना ली थी। उनके परिवार ने उनके विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई – उनके पिता ने उनके क्रिकेट कार्यक्रम का प्रबंधन किया, उनकी मां स्मिता ने उनके आहार और कपड़ों का ख्याल रखा और उनके भाई ने नेट्स में उनके लिए गेंदबाजी करना जारी रखा।

घरेलू विजय

स्मृति मंधाना को पहली बड़ी सफलता अक्टूबर 2013 में मिली जब उन्होंने एक दिवसीय खेल में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनकर रिकॉर्ड बुक में अपना नाम दर्ज कराया। गुजरात के खिलाफ महाराष्ट्र के लिए सिर्फ 150 गेंदों में उनकी अविश्वसनीय नाबाद 224 रन की पारी ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया और उनकी अपार क्षमता का प्रदर्शन किया।

घरेलू क्रिकेट में उनका प्रदर्शन लगातार शानदार रहा और वह जल्द ही भारतीय महिला क्रिकेट सर्किट में एक लोकप्रिय प्रतिभा बन गईं। उन्होंने 2016 महिला चैलेंजर ट्रॉफी में इंडिया रेड की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और 192 रनों के साथ टूर्नामेंट की शीर्ष स्कोरर बनकर उभरीं।

  • Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography |अशोक चव्हाण का जीवन परिचय
    Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography – भारतीय राजनीति की भूलभुलैया भरी दुनिया में, कुछ नाम अशोकराव शंकरराव चव्हाण के समान प्रशंसा और विवाद के मिश्रण से गूंजते हैं। राजनीतिक विरासत से समृद्ध परिवार में जन्मे चव्हाण की सत्ता के गलियारों से लेकर महाराष्ट्र के
  • Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi | प्रेमानंद जी महाराज का जीवन परिचय
    Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi – वृन्दावन के हलचल भरे शहर में, भक्ति और आध्यात्मिकता की शांत आभा के बीच, एक प्रतिष्ठित व्यक्ति रहते हैं जिनका जीवन विश्वास और आंतरिक शांति की शक्ति का एक प्रमाण है। वृन्दावन में एक प्रतिष्ठित आध्यात्मिक संगठन के
  • Yashasvi Jaiswal Biography | यशस्वी जयसवाल का जीवन परिचय
    Yashasvi Jaiswal Biography – उत्तर प्रदेश के हृदयस्थल में, सुरियावॉन नाम के एक छोटे से गाँव में 28 दिसंबर, 2001 को एक क्रिकेट सनसनी का जन्म हुआ। यशस्वी जयसवाल, एक ऐसा नाम जो अब क्रिकेट के गलियारों में गूंज रहा है, ने पानी पुरी बेचने

अंतर्राष्ट्रीय स्टारडम

स्मृति मंधाना की अंतरराष्ट्रीय स्टारडम की यात्रा अगस्त 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ वॉर्मस्ले पार्क में उनके टेस्ट डेब्यू के साथ शुरू हुई। उन्होंने उस मैच में भारत की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, महत्वपूर्ण रन बनाए और बड़े मंच पर प्रदर्शन करने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया।

इसके बाद के वर्षों में मंधाना का सितारा लगातार बुलंद होता गया। उन्होंने 2016 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय शतक बनाया। उनके शानदार स्ट्रोकप्ले और पारी को संभालने की क्षमता ने उन्हें भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए एक प्रमुख खिलाड़ी बना दिया।

उनकी सबसे उल्लेखनीय उपलब्धियों में से एक भारतीय टीम को 2017 महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में पहुंचाना था। हालांकि भारत खिताब जीतने से चूक गया, लेकिन मंधाना के योगदान और क्रिकेट के उनके निडर ब्रांड ने व्यापक प्रशंसा हासिल की।

स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना

टी20 लीग और वैश्विक मान्यता

स्मृति मंधाना की प्रतिभा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट तक ही सीमित नहीं थी; उन्होंने दुनिया भर की विभिन्न टी20 लीगों में भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने महिला बिग बैश लीग (डब्ल्यूबीबीएल) में ब्रिस्बेन हीट, किआ सुपर लीग में वेस्टर्न स्टॉर्म और द हंड्रेड में सदर्न ब्रेव के लिए खेला।

उनके प्रदर्शन ने उन्हें प्रशंसा और पुरस्कार दिलाए, जिनमें ICC महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर और ICC महिला वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर शामिल हैं। मंधाना की अपने खेल को विभिन्न प्रारूपों और परिस्थितियों के अनुसार ढालने की क्षमता एक क्रिकेटर के रूप में उनकी बहुमुखी प्रतिभा को रेखांकित करती है।

एक रोल मॉडल और प्रेरणा

स्मृति मंधाना सिर्फ एक क्रिकेट सनसनी नहीं हैं; वह भारत में महत्वाकांक्षी महिला क्रिकेटरों के लिए एक आदर्श हैं। सांगली की धूल भरी गलियों से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट क्षेत्र तक की उनकी यात्रा दृढ़ संकल्प और समर्पण की शक्ति का उदाहरण है।

उनकी सुंदर लेकिन शक्तिशाली बल्लेबाजी शैली ने उन्हें प्रशंसकों के बीच पसंदीदा बना दिया है, और उनकी सफलता ने भारतीय क्रिकेट में लैंगिक बाधाओं को तोड़ दिया है। उन्होंने दिखाया है कि महिलाएं पारंपरिक रूप से पुरुषों के वर्चस्व वाले खेल में उत्कृष्टता हासिल कर सकती हैं, जिससे महिला क्रिकेटरों की नई पीढ़ी को अपने सपनों को पूरा करने की प्रेरणा मिली है।

स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना

Smriti Mandhana Education: स्मृति मंधाना की शिक्षा

प्रतिभाशाली भारतीय क्रिकेटर स्मृति मंधाना ने न केवल क्रिकेट के मैदान पर उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है, बल्कि अपने क्रिकेट करियर के साथ-साथ अपनी शिक्षा को भी संतुलित करने में कामयाबी हासिल की है।

स्मृति का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई, भारत में हुआ था और उन्होंने अपने शुरुआती साल सांगली, महाराष्ट्र में बिताए, जहां उनका परिवार तब चला गया जब वह सिर्फ दो साल की थीं। जहां छोटी उम्र से ही क्रिकेट उनके जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा था, वहीं शिक्षा उनके पालन-पोषण का एक महत्वपूर्ण पहलू बनी रही।

अपनी क्रिकेट प्रतिबद्धताओं और कठोर प्रशिक्षण कार्यक्रम के बावजूद, स्मृति ने कभी भी अपनी शिक्षा की उपेक्षा नहीं की। उन्होंने एक सर्वांगीण शिक्षा के मूल्य को पहचाना और क्रिकेट के प्रति अपने जुनून और अपनी शैक्षणिक गतिविधियों के बीच संतुलन बनाए रखने का प्रयास किया।

स्मृति मंधाना ने अपनी स्कूली शिक्षा महाराष्ट्र के सांगली में पूरी की और अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत होने के बावजूद अपनी पढ़ाई जारी रखने में सफल रहीं। स्कूल और क्रिकेट की मांगों के बीच संतुलन बनाना किसी भी युवा एथलीट के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है, लेकिन स्मृति के समर्पण और समय प्रबंधन कौशल ने उन्हें दोनों क्षेत्रों में उत्कृष्टता हासिल करने की अनुमति दी।

हालाँकि उनकी उच्च शिक्षा के बारे में विशिष्ट विवरण सार्वजनिक स्रोतों में आसानी से उपलब्ध नहीं हो सकते हैं, लेकिन यह स्पष्ट है कि स्मृति मंधाना की शिक्षा के प्रति प्रतिबद्धता ने उनके व्यक्तिगत विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। शिक्षा ने न केवल उन्हें क्रिकेट से परे जीवन के लिए एक मजबूत आधार प्रदान किया बल्कि अनुशासन और ज्ञान की प्यास भी पैदा की जिसने उनकी क्रिकेट प्रतिभा को पूरक बनाया।

क्रिकेट जगत में स्मृति मंधाना की सफलता युवा एथलीटों के लिए प्रेरणा का काम करती है, जो दर्शाती है कि दृढ़ संकल्प, कड़ी मेहनत और शिक्षा के प्रति संतुलित दृष्टिकोण के साथ, मैदान पर और बाहर दोनों जगह महानता हासिल करना संभव है। अपनी शिक्षा और क्रिकेट करियर को एक साथ जोड़ने की उनकी क्षमता जीवन के सभी पहलुओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के उनके समर्पण और दृढ़ संकल्प का प्रमाण है।

स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना

Smriti Mandhana Family: स्मृति मंधाना का परिवार

स्मृति मंधाना एक घनिष्ठ और सहयोगी परिवार से आती हैं, जिसने उनकी क्रिकेट यात्रा और व्यक्तिगत विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आइए मंधाना परिवार के सदस्यों पर एक नज़र डालें:

  1. माता-पिता: स्मृति मंधाना का जन्म स्मिता मंधाना और श्रीनिवास मंधाना से हुआ था। उनके माता-पिता उनके क्रिकेट करियर के दौरान उनकी ताकत और अटूट समर्थन के स्तंभ रहे हैं। स्मिता मंधाना अपनी बेटी के आहार, कपड़े और अन्य संगठनात्मक पहलुओं के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार हैं, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि स्मृति क्रिकेट मैदान पर प्रदर्शन करने के लिए हमेशा सर्वोत्तम स्थिति में रहें। इस बीच, एक रसायन वितरक श्रीनिवास मंधाना ने स्मृति के क्रिकेट कार्यक्रम की जिम्मेदारी संभाली है, जो एक क्रिकेटर के रूप में उनके विकास के लिए आवश्यक मार्गदर्शन और सहायता प्रदान करते हैं। स्मृति की सफलता को आकार देने में उनके संयुक्त प्रयास और समर्पण महत्वपूर्ण रहे हैं।
  2. भाई: स्मृति मंधाना के छोटे भाई श्रवण मंधाना भी उनकी क्रिकेट यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। श्रवण खुद एक क्रिकेटर हैं जिन्होंने महाराष्ट्र के सांगली में जिला स्तर पर खेल खेला है। उन्हें अक्सर नेट्स पर स्मृति को गेंदबाजी करते हुए देखा गया है, जिससे उन्हें अपने कौशल को निखारने और अपनी तकनीक को निखारने में मदद मिली है। भाई-बहनों के बीच का बंधन क्रिकेट में उनकी भूमिकाओं से परे तक फैला हुआ है, क्योंकि वे एक परिवार के रूप में एक गहरा संबंध साझा करते हैं।

स्मृति की क्रिकेट गतिविधियों में मंधाना परिवार की भागीदारी महज समर्थन तक ही सीमित नहीं है; यह उसकी प्रतिभा को निखारने और उसके सपनों को हासिल करने में मदद करने की उनकी सामूहिक प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उनका समर्पण, प्रोत्साहन और बलिदान स्मृति मंधाना के भारत के सबसे प्रसिद्ध और निपुण क्रिकेटरों में से एक बनने में सहायक रहा है।

स्मृति मंधाना अक्सर स्वीकार करती हैं कि उनके परिवार ने उनकी यात्रा में अमूल्य भूमिका निभाई है, और उनका अटूट समर्थन उनके लिए प्रेरणा और ताकत का स्रोत बना हुआ है क्योंकि वह क्रिकेट के मैदान पर चमकती रहती हैं, जिससे दुनिया भर के महत्वाकांक्षी क्रिकेटरों और क्रिकेट प्रेमियों को प्रेरणा मिलती है।

स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना

Smriti Mandhana Career: स्मृति मंधाना का करियर

स्मृति मंधाना का क्रिकेट करियर प्रतिभा, दृढ़ संकल्प और निरंतर उत्कृष्टता की एक उल्लेखनीय कहानी है। महाराष्ट्र में अपने शुरुआती दिनों से लेकर भारतीय महिला क्रिकेट में सबसे चमकदार सितारों में से एक बनने तक, उनकी यात्रा प्रेरणादायक रही है।

प्रारंभिक शुरुआत:

  • स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई, भारत में हुआ था।
  • क्रिकेट से उनका परिचय कम उम्र में हुआ जब वह दो साल की थीं, तब उनका परिवार महाराष्ट्र के सांगली चला गया।
  • उनके पिता, श्रीनिवास मंधाना और उनके भाई, श्रवण मंधाना, दोनों ने जिला स्तर पर क्रिकेट खेला, जिससे खेल के प्रति उनका जुनून जगमगा उठा।

घरेलू स्टारडम:

  • स्मृति की क्रिकेट प्रतिभा तब चमक उठी जब नौ साल की उम्र में उन्हें महाराष्ट्र की अंडर-15 क्रिकेट टीम के लिए चुना गया।
  • ग्यारह साल की उम्र तक, उन्होंने पहले ही महाराष्ट्र अंडर-19 टीम में अपनी जगह पक्की कर ली थी।
  • अक्टूबर 2013 में, उन्होंने गुजरात के खिलाफ सिर्फ 150 गेंदों पर नाबाद 224 रन बनाकर एक दिवसीय खेल में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनकर सुर्खियां बटोरीं।

अंतर्राष्ट्रीय पदार्पण:

  • स्मृति मंधाना ने अगस्त 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेलकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए पदार्पण किया।
  • उसी टेस्ट मैच में, उन्होंने अपनी पहली और दूसरी पारी में क्रमशः 22 और 51 रन बनाकर महत्वपूर्ण प्रभाव डाला, जिससे भारत को जीत हासिल करने में मदद मिली।

विश्व कप यात्रा:

  • 2017 में, उन्होंने महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल तक भारत की यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जहां टीम इंग्लैंड से उपविजेता रही। पूरे टूर्नामेंट में बल्ले से उनका योगदान महत्वपूर्ण रहा।
  • विश्व कप के दौरान, स्मृति ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) में अपना दूसरा शतक बनाया, एक भरोसेमंद सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी स्थिति की पुष्टि की।
स्मृति मंधाना
स्मृति मंधाना

टी20 की सफलता और वैश्विक पहचान:

  • स्मृति मंधाना का प्रदर्शन टी20 क्रिकेट में भी शानदार रहा है. उन्होंने फरवरी 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सिर्फ 24 गेंदों में महिला टी20ई में सबसे तेज अर्धशतक बनाकर भारत के लिए रिकॉर्ड बनाया है।
  • उनकी अनुकूलनशीलता और स्टाइलिश बल्लेबाजी तकनीक ने उन्हें महिला बिग बैश लीग (डब्ल्यूबीबीएल) और द हंड्रेड सहित दुनिया भर की विभिन्न टी20 लीगों में एक लोकप्रिय खिलाड़ी बना दिया है।

पुरस्कार और सम्मान:

  • स्मृति मंधाना के लगातार प्रदर्शन ने उन्हें कई पुरस्कार दिलाए हैं, जिसमें आईसीसी वर्ष की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर का प्रतिष्ठित राचेल हेहो-फ्लिंट पुरस्कार भी शामिल है।
  • उन्हें आईसीसी महिला वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर नामित किया गया है और उन्हें महिला क्रिकेट में असाधारण खिलाड़ियों में से एक के रूप में मान्यता दी गई है।

कप्तानी और नेतृत्व:

  • 2019 में, स्मृति मंधाना को भारतीय महिला T20I टीम का कप्तान बनाया गया, जो भारत के लिए सबसे कम उम्र की T20I कप्तान बन गईं।
  • उनके नेतृत्व कौशल और क्रिकेट कौशल ने उनके करियर में एक और आयाम जोड़ा है।

अंत में, स्मृति मंधाना एक क्रिकेट सनसनी हैं जिनकी मुंबई से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट क्षेत्र तक की यात्रा प्रतिभा, दृढ़ संकल्प और लगातार उत्कृष्टता द्वारा चिह्नित की गई है। उनकी शानदार बाएं हाथ की बल्लेबाजी, बहुमुखी प्रतिभा और नेतृत्व कौशल ने उन्हें भारत में सबसे प्रसिद्ध क्रिकेटरों में से एक बना दिया है और दुनिया भर में महत्वाकांक्षी महिला क्रिकेटरों के लिए एक रोल मॉडल बना दिया है।

18 जुलाई, 1996 को मुंबई में जन्मी स्मृति एक क्रिकेट-प्रेमी परिवार से हैं, जिन्हें उनके माता-पिता, स्मिता और श्रीनिवास मंधाना और उनके भाई, श्रवण मंधाना का अटूट समर्थन प्राप्त है। उन्होंने महाराष्ट्र के सांगली में अपनी क्रिकेट यात्रा शुरू की और तेजी से आगे बढ़ते हुए महाराष्ट्र की अंडर-15 और अंडर-19 टीमों में जगह बनाई।

उनके घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय करियर की मुख्य विशेषताओं में एक दिवसीय खेल में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनना, 2017 में महिला क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में भारत का नेतृत्व करना और राचेल हेहो-फ्लिंट पुरस्कार जैसे प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त करना शामिल है। और 2018 में आईसीसी महिला क्रिकेटर ऑफ द ईयर।

लगभग 5 फीट 4 इंच (163 सेमी) की ऊंचाई वाली स्मृति मंधाना का प्रभाव क्रिकेट के मैदान से परे तक फैला हुआ है। वह कई लोगों के लिए प्रेरणा हैं, जो न केवल अपनी क्रिकेट प्रतिभा के लिए जानी जाती हैं, बल्कि अपनी क्रिकेट प्रतिबद्धताओं के साथ शिक्षा को संतुलित करने की क्षमता के लिए भी जानी जाती हैं। ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनकी सक्रिय उपस्थिति उन्हें प्रशंसकों से जुड़ने और अपनी यात्रा साझा करने की अनुमति देती है।

Smriti Mandhana Biography – FAQ

कौन हैं स्मृति मंधाना?

स्मृति मंधाना एक भारतीय क्रिकेटर हैं जो अपनी शानदार बाएं हाथ की बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं।
वह भारतीय महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करती हैं और उन्होंने क्रिकेट में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों सफलताएं हासिल की हैं।

स्मृति मंधाना का जन्म कब और कहाँ हुआ था?

स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई, भारत में हुआ था।

स्मृति मंधाना की लंबाई कितनी है?

स्मृति मंधाना की लंबाई लगभग 5 फीट 4 इंच (163 सेमी) है।

स्मृति मंधाना की बल्लेबाजी शैली क्या है?

स्मृति मंधाना बाएं हाथ की बल्लेबाज हैं जो अपनी स्टाइलिश और शानदार बल्लेबाजी शैली के लिए जानी जाती हैं।

स्मृति मंधाना के करियर का मुख्य आकर्षण क्या है?

अक्टूबर 2013 में एक दिवसीय क्रिकेट खेल में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महिला बनना उनके करियर की महत्वपूर्ण उपलब्धियों में से एक है।

क्या स्मृति मंधाना को कोई पुरस्कार मिला है?

हां, उन्हें कई पुरस्कार और सम्मान मिले हैं, जिनमें प्रतिष्ठित राचेल हेहो-फ्लिंट पुरस्कार और आईसीसी वर्ष की महिला क्रिकेटर शामिल हैं।

स्मृति मंधाना की सोशल मीडिया पर मौजूदगी क्या है?

स्मृति मंधाना सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय हैं, जिनमें ट्विटर (@mandhamana_smriti), इंस्टाग्राम (@smriti_mandhamana), और Facebook (Smriti Mandhamana) शामिल हैं।


  • Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography |अशोक चव्हाण का जीवन परिचय
    Ashok Chavan Ex Maharashtra CM Biography – भारतीय राजनीति की भूलभुलैया भरी दुनिया में, कुछ नाम अशोकराव शंकरराव चव्हाण के समान प्रशंसा और विवाद के मिश्रण से गूंजते हैं। राजनीतिक विरासत से समृद्ध परिवार में जन्मे चव्हाण की सत्ता के गलियारों से लेकर महाराष्ट्र के राजनीतिक परिदृश्य के केंद्र तक की यात्रा विजय, चुनौतियों और
  • Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi | प्रेमानंद जी महाराज का जीवन परिचय
    Premanand Ji Maharaj Biography In Hindi – वृन्दावन के हलचल भरे शहर में, भक्ति और आध्यात्मिकता की शांत आभा के बीच, एक प्रतिष्ठित व्यक्ति रहते हैं जिनका जीवन विश्वास और आंतरिक शांति की शक्ति का एक प्रमाण है। वृन्दावन में एक प्रतिष्ठित आध्यात्मिक संगठन के संस्थापक प्रेमानंद जी महाराज ने अपना जीवन प्रेम, सद्भाव और
  • Budget 2024 Schemes In Hindi | बजट 2024 योजनाए हिंदी में
    Budget 2024 Schemes In Hindi – बजट 2024: वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी 2024 को अंतरिम केंद्रीय बजट 2024-25 पेश किया। उन्होंने इस बजट में कई नई सरकारी योजनाओं की घोषणा की और मौजूदा सरकारी योजनाओं में भी कुछ संशोधन का प्रस्ताव रखा। यहां, हमने बजट में घोषित सरकारी योजनाओं की सूची
  • Harda Factory Blast (MP) | हरदा फैक्ट्री ब्लास्ट
    Harda Factory Blast – एक विनाशकारी घटना में, जिसने पूरे समुदाय को झकझोर कर रख दिया है, मध्य प्रदेश के हरदा में एक पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के कारण कम से कम 11 लोगों की जान चली गई और 174 अन्य घायल हो गए। यह दुखद घटना मंगलवार, 6 फरवरी को सामने आई, जो अपने
  • PM Modi aim to Arrest Arvind Kejriwal | पीएम मोदी का लक्ष्य अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करना
    PM Modi aim to Arrest Arvind Kejriwal – घटनाओं के एक नाटकीय मोड़ में, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शहर की उत्पाद शुल्क नीति से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग की चल रही जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी तब हुई जब केजरीवाल ने ईडी के समन